Maths Full Form in hindi l मैथ्स का फुल फॉर्म क्या है

नमस्कार मित्रो आज के इस लेख में हम Maths Full Form in hindi के बारे में जानेंगे तो अगर आप भी इंटरनेट पर मैथ्स से जुडी जानकारी सर्च कर रहे है तो आज का यह लेख आपके लिए होने वाला है क्योकि आज के इस लेख में हम Maths से जुडी सम्पूर्ण जानकारियों के बारे में समझेंगे की Maths ka Full Form kya hai और इसके क्या फायदे होते है

Maths एक ऐसा विषय है जिसका इस्तेमाल हमारी पढाई शुरू होने से लेकर पढाई ख़त्म होने तक तथा उसके बाद भी इसका उपयोग सामान्य जीवन में होता है क्योंकि गणित की जरूरत हमे जीवन के हर एक पड़ाव में पड़ती है

फिर चाहे हमे कोई वस्तु चुनना हो किसी कार्य को करना हो या कोई बड़ी परेशानी का सामना करना पड़े हर स्थान पर हम गणित लगाते है लेकिन गणित एक ऐसा विषय है की जितना ये हमारे लिए महत्वपूर्ण है उसको पढ़ने को समझने में उतना ही कठिनाई आती है अक्सर बच्चे गणित विषय के नाम से दूर भागते है

क्योंकि गणित में अधिक दिमाग लगाना पड़ता है तथा गणित को समझने के लिए दिमाग के साथ साथ लॉजिक भी लगाना पड़ता है जिससे एक बार पढ़ने के बाद व्यक्ति उस सवाल को नही भूल पाए

पढ़ने वाले स्टूडेंट्स का अक्सर ये कहना होता है की गणित से हमारे जीवन में बहुत बदलाव आया है तो आइए जानते है Maths के बारे में विस्तार से मैथ्स क्या है Maths का अर्थ क्या है और इसका का हमारे जीवन में क्या लाभ है

Maths Full Form in Hindi

Maths का फुल फॉर्म : Mathematics होता है जिसे हिंदी भाषा में गणित भी कहते है गणित एक ऐसा विषय है जो आपके शिक्षा शुरू होने से लेकर अंत होने के बाद भी आपके साथ रहती है

M Memory
A Accuracy
T Telent
H Hardwork
E Enthusiasm
MMemory (यदास्थ स्मृति)
AAccuracy (सटीकता सत्यता)
TTelent (प्रतिभा)
HHardwork (परिश्रम)
EEnthusiasm (उत्साह)
MMind (मन)
AAttention (ध्यान)
TTact (व्यवहार)
IIntrest (प्रेरित करना)
CCleverness (चतुराई होशियारी)
SSincerity (ईमानदारी)

Maths क्या है

Maths शब्द ग्रीक और लेटिन भाषा के Mathemetic शब्द से लिया गया है जिसका मतलब होता है सीखे जाने वाली वस्तु और अगर हिंदी में समझे तो गणित शब्द का अर्थ है वह शास्त्र जिसमे गणना की प्रधानता हो गणित के पितामह कहें जाने वाले आर्कमिडीज ने गणित की शुरुआत की थी।

गणित का अर्थ क्या है

गणित वह विज्ञान है जो आकार मात्रा और व्यवस्था के तर्क से संबंधित है यानी गणित में किसी भी वस्तु आकर और मात्रा की गणना की जाती है

गणित कितने प्रकार के होते है

1) शुद्ध गणित (Pure Mathematics)
2) व्यावहारिक गणित *Applied Mathematics)

शुद्ध गणित – शुद्ध गणित वो गणित होते है जिसमे संख्या सिद्धांत, बीजगणित,ज्यामिति, संयोजन, अंकगणित, टोपोलोजी, गणितीय विश्लेषण आते है ऐसे शब्द शुद्ध गणित कहलाते है

व्यावहारिक गणित- व्यावहारिक गणित की बात करे तो वो गणित जिसमे कलान, सांख्यिकी और संभव्यता सेट सिद्धांत, त्रिकोणमिति इस्तेमाल होते है ऐसे शब्द व्यावहारिक गणित कहलाते है

Maths के क्या फायदे है जीवन में

गणित पढ़ने वालों को लगता है की गणित का इस्तेमाल सिर्फ एग्जाम क्लेयर करने तक ही होता है लेकिन ऐसा नहीं आज हम आपको Maths के ऐसे फायदे बताने जा रहे है जिनका इस्तेमाल हम लोग आए दिन अपनी जीवन में करते आज तो आइए जानते Maths के क्या फायदे है हमारी लाइफ में

  • प्रायिकता (Probability) – जब भी आप कही संभावना या अनुमान लगाते है जैसे की जब आप कही बाहर जाने के लिए तैयार हो रहे होते है तो आप सोचते है आज में कोन से कपड़े पहनु अगर में ये कपड़े पहनता हूं तो ऐसा लगूंगा और ये वाले पहनता हूं तो ऐसा लगूंगा इस तरह आप सोचते वक्त आप अनुमान लगा रहे होते है तो इस वक्त अनुमान लगाने के दौरान आप गणित का इस्तेमाल कर रहे होते है जिसे प्रायिकता कहते है
  • सांख्यिकी (Statistic) – स्टॉक मार्केट के बारे में तो सभी लोग जानते है क्या आपने कभी सोचा है की स्टॉक मार्केट गणित कितने बड़ी भूमिका निभाती है स्टॉक मार्केट का जो ग्राफ होता है उसको देख कर लोग अंदाजा लगाते हैं की मार्केट प्रॉफिट में है या लोस में तो इस वक्त भी गणित का इस्तेमाल होता है और इस वक्त गणित का Statistic यानी सांख्यिकी अध्याय इस्तेमाल हो रहा होता है
  • कलन (Calculus) – कई बार आपने बड़े बड़े ब्रिज पुल और इमारतों को कर्व की सेप में देखा होगा लेकिन आपको ये नही पता होगा की इस कर्व सेप को बनाने के लिए गणित का इस्तेमाल होता है ब्रिज पुल और इमारतों को कर्व की सेप में बनाने के लिए Maths का Calculus यानी कलन अध्याय का उपयोग होता है तथा कैलकुलस का इस्तेमाल Physics और Biology में भी होता है
  • त्रिकोणमिति (Trignometry) – त्रिकोणमिति यानि साइन, कोस, थिटा, ये Maths का वो अध्याय है जिसको जब भी बच्चे पढ़ते है तो सोचते है की इसका इस्तेमाल हमारी लाइफ में कहा होगा और हम इसे फालतू मे ही पढ़ रहे है तो मैं बताता हु आपको इस Trignometry अध्याय का इस्तेमाल कहा होता है त्रिकोणमिति का इस्तेमाल Con को नापने के लिए किया जाता है जब समुंद्री जहाज किनारे पर आते है तो जहाज पर चढ़ने के लिए जो पुल बनाते है उसे कितने कोनो पर रखे की आप आसानी से उस पर चढ़ या उतर सके। Trignometry का इस्तेमाल समुंद्र के अंदर पंडुबी के द्वारा गहराई नापने के लिए भी किया जाता है

निष्कर्ष

आज आपने सीखा Maths Full Form in Hindi क्या होता तथा इसका क्या अर्थ है में उम्मीद करता हु की इस लेख बताई गयी जानकारी आपके लिए मददगार होगी आशा है की आप इस लेख में जिन प्रशनो के उत्तर जानने के लिए आये थे उन सभी सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिला होगा

मेरी हमेशा से यह कोशिश रहती है आप जिस उम्मीद से हमारे लेख पर आते है जिन सवालों के जवाब जानने के लिए आते है वह सभी जानकारी आपको विस्तारपूर्वक बता सकू

इसलिए आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और यदि इस आर्टिकल से संबंधित आपके मन में कोई सवाल है तो कमेंट के द्वारा हमें जरूर बताएं।

Leave a Comment